2023 What is Cinematography in Hindi – जानिए छायांकन क्या है ?

सिनेमैटोग्राफर को हिंदी में क्या कहते हैं?,Cinematography in Hindi,cinematography meaning in hindi,छायांकन क्या है,हाई एंगल शॉट,Cinematography courses in Hindi,फिल्मों में सिनेमेटोग्राफी का महत्व,Cinematography क्या है ?,Cinematography का महत्व, Cinematographer Salary in India,Cinematographer क्या होता है ?,Main Elements of Cinematography है , Cinematography कहा से सीखें,Career in Cinematography |

दोस्तों अगर आप टाइटल पढ़कर इस पोस्ट तक आए हो तो आप सही हो ,आपने जिस उत्सुकता से इस पोस्ट पर क्लिक किया है आपको उसकी वैल्यू जरूर मिलेगी | जी हा Cinematography in Hindi(छायांकन क्या है) के बारे कोई भी डाउट हो वो सभी हम इस आर्टिकल के माध्यम से solve करेंगे |

यह Cinematography है क्या ? कीस तरह से काम करता है ?अगर किसीको यह एक career के तौर पर लेना है तो कैसे ले सकता है ? उसकी अच्छाईया ,बुराईया सभी आज हम आपसे discuss करेंगे | आप तो दोस्तों आप अगर वाकई में Cinematography यानी छायांकन क्या है इसके बारे में जानने के लिए बेताब हो तो बिना देरी के चलिए Cinematography in Hindi आर्टिकल को शुरू करते हैं|

Table of Contents

What is Cinematography | छायांकन क्या है?

Cinematography-in-Hindi

Cinematography(छायांकन ) यह एक कला है जिसमे कोई भ कहानी किसी विडिओ या फिर फिल्म के माध्यम से दर्शकों तक पहुंचाई जाती है |यह FilmMacking की process का एक अहम भाग है | Cinematography मे बहुत सारे technique का इस्तमाल किया जाता है जिसमे Camera ,रंग ,प्रकाशयोजना ,कैमरा angles आदि का समावेश होता है और इसी का उपयोग करके दर्शकों को कलाकृति से जोड़ने का काम किया जाता है |

Cinematography(छायांकन ) यह आपके काम करने की टेक्नीक ,तथा काम करने वाले लोगों पर आधारित है ,क्यों की हर एक की काम करने की पद्धधत अलग अलग होती है ,और उसके ऊपर cinematography depend है | जितना आप अच्छा काम करेंगे आपको रिजल्ट भी उतनाही अच्छा आएगा |

यह फिल्म निर्माण का एक महत्वपूर्ण भाग है जो की फिल्म को आकर्षित और रंजक बनाता है जिससे दर्शक पूरी तरह से उस कहानी मे घुस जाते है और उन्हे बहुत ही अच्छा अनुभव मिलता है |

Cinematography के हिन्दी अर्थ

  • चलचित्रण
  • चलचित्रकला
  • चलचित्रिकी
  • सिनेकला
  • चलचित्रकी

Cinematography की व्याख्या क्या है ?

Cinematography = The act of making a film ( filming, motion-picture photography यानि चलचित्रण, चलचित्रांकन, फिल्मांकन) .

दोस्तों सिनेमैटोग्राफी(Cinematography) की व्याख्या देखकर आपका मन विचलित हुआ रहेगा पर ठहरिए आपको जितना दिख रहा है उतना कठिन है नहीं| आज हम आपसे एक सिनेमैटोग्राफर की जर्नी समझाएंगे, जिसे आप एक कैरियर के रूप में भी देख सकते हैं|

फिल्मों में सिनेमेटोग्राफी(Cinematography) का महत्व क्या है | छायांकन का महत्व ?

Cinematography(छायांकन ) यह फिल्मों मे बहुत ही important है जो की दृश और कहानी का सही से इस्तमाल करके एक 100 % पूरे प्रोडक्ट दर्शकों तक पहुंचाता है | सिनेमेटोग्राफी का महत्व नीचे दी सूची के अनुसार समज़ाने की कोशिश की है |

  • Creation of Role: सिनेमेटोग्राफी व्यक्तिगत और सामाजिक भावनाओं को संवेदनशील बनाने मे मदत तो करती ही है पर साथ ही वह भूमिका भी निर्माण करती है ,जैसे किसी भी character को दर्शकों तक सही से पहुँचाने मे भी यह मदत करती है|
  • Story narration: फिल्म के लिए सबसे पहले लेखक ने जो भी स्क्रिप्ट लिखी है उसे भी न्याय देना इस Cinematography(छायांकन ) पर depend होता है | कैमरा angles ,लाइट के साथ कहानी को डिलिवर किया जाता है जिससे उस स्टोरी का सही अर्थ दर्शकोको मिले |
  • Effects of Colors and Visuals : Cinematography(छायांकन ) जो भी रंग ,शेड्स ,Visual Effects तय्यार किया जाए है वो वाकई मे दर्शकोको एक अलग ही दुनिया मे ले जाते है |
  • Special Effects and Techniques : Cinematography(छायांकन ) के लिए बहुत से स्पेशल effects और advanced टेक्नॉलजी का इस्तमाल किया जाता है जिसमे लाइटिंग ,ट्रैकिंग उपकरण आदि का समावेश होता है | यही सभी किसी भी फिल्म का user experience बढ़ाने मे मदत करती है |

Cinematographer Salary in India (भारत में सिनेमैटोग्राफर की सैलरी)

देखिए कौन सा भी जॉब हो उसमें अनुभव सबसे पहले देखा जाता है, वैसे ही यहां पर भी अनुभव देखा जाता है| जितना अनुभव ज्यादा इतनी सैलरी ज्यादा| देखिए भारत में एक सिनेमैटोग्राफर शिक्षा(Cinematography courses) पूरी करने के बाद कम से कम 20000 रुपए महीना से शुरू कर सकता है| देखिए यह एवरेज सैलेरी है इससे कम या फिर ज्यादा भी हो सकती है, पर हमारे रिसर्च के अनुसार कम से कम ₹20000 दिए जाते हैं|

उसके बाद जैसे-जैसे आपका अनुभव बढ़ता जाता है वैसे ही आपकी सैलरी में भी इंक्रीमेंट होते जाते हैं| अगर रकम के बारे में बोला जाए तो ₹50000-₹60000 से लेकर 1 लाख तक भी एक अच्छी Cinematography को दिए जाते हैं| लेकिन हम फिर से कहते हैं कि यहां एवरेज वैल्यू है, उसके बाद आपके काम आपके अनुभव के ऊपर आपकी सैलरी बढ़ते जाती है| शुरुआती दिनों में वहां पर सैलरी पर फोकस ना करें और उसे काम सीखने रहे उसके बाद अपने आप की सैलरी भी बढ़ जाएगी| ज्यादा से ज्यादा प्रोजेक्ट पर कम करें, लाइव शूटिंग देखें,shooting sets पर ज्यादा से ज्यादा समय निकाले , ऐसा करने से एक सक्सेसफुल सिनेमैटोग्राफर अच्छा खासा इनकम(Cinematographer Salary) कर सकते हैं

Cinematographer क्या होता है | Cinematography (छायांकन ) in Hindi |

सिनेमेटोग्राफर यह एक व्यक्ति होता है जो इस FilmMacking की प्रक्रिया मे बहुत बड़ा रोल निभाता है | इस व्यक्ति के पास बहुत ही knowledge होना जरूरी है जिसका उपयोग करके वह एक अच्छा आउट्पुट दे सके |

Cinematographer का काम ही ऐसा होता है की उसे सबसे पहले प्रडूसर ,डायरेक्टर ,राइटर के साथ मीटिंग करके स्टोरी को समजना और उसके हिसाब से फिल्म को शूट करता है |यह सबकुछ करते हुए उसे कैमरा ,स्पीड ,लेंस, लाइट ,आदि चीजोंको भी ध्यान मे रखना पड़ता है |

एक cinematographer के लिए बहुत सी उपकरण की जरूरत होती है जैसे की कैमरा,लेंस,लाइटिंग उपकरण ,ट्रैकिंग उपकरण आदि |||

Cinematography कहा से सीखें | छायांकन क्या है?

सिर्फ Cinematography(छायांकन ) ही नहीं बल्कि कुछ समय पहले कोई भी चीज सीखना बहुत ही कठिन था पर जब से technology आयी है तभी से यह सब चीजे आसान हुई है | आज तो advanced टेक्नॉलजी का जमाना है एसलिए हम जो चाहे वो कर सकते है | cinematography सीखने के लिए आपके पास बहुत से रास्ते है , वो क्या है नीचे सूची दी है |

  • Online Resources: आज के समय मे सबसे बड़ा गुरु इंटरनेट है जहा पर सर्च करके आपको जो भी ज्ञान चाहिए वो मिल सकता है | इंटरनेट पर Video ,Audio , ब्लॉग्स , Website आदि का उपयोग करके या बहुत सी जानकारी हासिल कर सकते है |
  • Film Schools or Arts Universities: दोस्तों आज के समय मे स्कूल और कॉलेज मे भी ऐसी शिक्षा दी जाती है | आर्ट्स के विषय के अंतर्गत भी बहुत से workshop ,tranning program लिए जाते है | अगर बात करे यूनिवर्सिटी की तो खास तौर पर सिर्फ FilmMacking ,थिएटर आदि की शिक्षा वह पर दी जाती है |कुलमिलकर आप याहसे भी knowledge ले सकते है|
  • Courses and Workshops: इस फील्ड के expirts आज के डेट मे काही ना काही workshop या कुछ cources लेकर आते ही रहते है | तो अगर आपको पॉसिबल है तो किसी भी physical workshop मे भी आप जा सकते है , जिससे आपको लाइव tranning मिलेगा |
  • Experiment and Practice: फील्ड कौनसा भी हो उसमे सीखने के साथ साथ प्रैक्टिस भी important है , आब तक जो भी आपने सिख है उसे प्रैक्टिस करके देखना जरूरी है |जैसे आप आपके कैमरा या मोबाईल कैमरा से इस तरह के प्रैक्टिकल कर सकते है | ऐसा करने से आपका knowledge भी बढ़ेगा और आपको सीखने की इच्छा भी बढ़ेगी |
  • Satyajit Ray Film & Television Institute
  • Annapurna College of Film and Media
  • Whistling Woods International, Mumbai
  • Zee Institute of Media Arts (ZIMA)
  • Film and Television Institute of India
  • LV Prasad Film & TV Academy

सिनेमेटोग्राफी(छायांकन ) और फोटोग्राफी में क्या अंतर है ? | Cinematography in Hindi

SR.NOसिनेमेटोग्राफी(Cinematography ) (छायांकन )फोटोग्राफी( Photography)
1सिनेमेटोग्राफी का उपयोग फिल्म या वीडियो माध्यम के लिए किया जाता है |फोटोग्राफी का उपयोग स्थिर चित्रों के लिए उपयोग किया जाता है |
2सिनेमेटोग्राफी एक पूरी कहानी को तथा दृश्यों को दिखाने का काम करती है |फोटोग्राफी सिर्फ एक ही दृश्य को कैप्चर करती है।
3सिनेमेटोग्राफी मे टेक्नॉलजी का ज्यादा इस्तमाल किया जाता है |फोटोग्राफी मे सिनेमेटोग्राफी की तुलना मे बहुत कम टेक्नॉलजी use की जाती है |
4सिनेमेटोग्राफी के लिए बाकी बहुत सी चीजों की जरूरत होती है , जैसे की लाइट,म्यूजिक, Actors ,Dialog आदि.. फोटोग्राफी मे सिर्फ कोई भी चित्र की आवश्यकता होती है |
5सिनेमेटोग्राफी के लिए प्रापर टीम की जरूरत होती है |फोटोग्राफी के लिए ज्यादा manpower की जरूरत नहीं होती |
6फ्यूचर स्कोप की बात करे तो सिनेमेटोग्राफी को बहुत बड़ा मार्केट है |फोटोग्राफी भी उतनी तेजी से मार्केट कवर कर रही है पर उतनी sucess नहीं है |
7उदाहरण : मूवी की शूटिंग के लिए जो शॉट शूट किया जाता है ,उसके बाद उसे एडिट करके एक प्रापर सीन बनता है | उदाहरण : यह आप शादी मे किए फोटोग्राफी का उदाहरण ले सकते है |

Best Cinematography Movies in Hindi

सिनेमैटोग्राफी(छायांकन ) में भारत में अभी के समय में बहुत सारी बदलाव आ चुके हैं, जैसे कि शुरुआती दिनों में तकनीकी चीजे कम होने के कारण यह बहुत मुश्किल था पर अब बहुत सारे तकनीक, एडवांस्ड techonology उपलब्ध होने के कारण फिल्मों में सिनेमैटोग्राफी बहुत ही अच्छे और एडवांस्ड लेवल पर की जाती है| आज तक जो भी फिल्में Cinematography की तकनीक(camera angles और exposure) से बनाई गई है उसमें कुछ फिल्में ऐसे हैं, जो पूरी तरह से Cinematography दर्शाती है|

नीचे हम आपके साथ कुछ फिल्मों के नाम शेयर करते हैं जिसमें ज्यादा से ज्यादा सिनेमैटोग्राफी का उपयोग किया है, और इसी कारण या फिर मैं बहुत ही हिट हुई है|

  • Baajirao Mastani
  • Barfi
  • Bahubali and Bahibali 2
  • Ramayan
  • Raavan
  • Tumbbad
  • Tanaji
  • Gangs of Wasseypur

सिनेमेटोग्राफी(छायांकन ) के महत्वपूर्ण तत्व | Cinematography in Hindi

  1. दृश्य (Composition):
    • दृश्य सबसे पहला और महत्वपूर्ण घटक है जिसके ऊपर बाकी सारे तत्व depend होते है |
    • जितना हो सके स्थिर दृश्य देखने मे आकर्षित लगता है |
  2. रंग (Color):
    • रंग एक बहुत ही इम्पॉर्टन्ट घटक है जिससे cinematography के लिए पोशाक वातावरण निर्मिती की जाती है |
    • सही रंग को सही कार्य के लिए एस्टमाल करना चाहिए |
  3. प्रकाश (Lighting):
    • Cinematography के लिए प्रकाश यानि लाइट का सही इस्तमाल होना जरूरी है |
    • लाइट का डिजाइन करते समय छविया भी इस्तमाल कर सकते है जिससे सीन और भी मजेदार होगा |
  4. लेंस (Lenses):
    • किसी भी दृश को चित्र के रूप मे या फिर विडिओ फॉर्मैट मे करने के लिए लेंस बहुत ही मदत करता है |
    • Cinematography के लिए lense का knowledge होना और उसका सही इस्तमाल करना जरूरी है |
  5. फ़ोकस (Focus):
    • फोकस सेट करना
    • किसी दृश को capture करने के लिए फोकस का सही होना जरूरी है |
  6. कैमरा की गति (Camera Movement):
    • कैमरा stable होना जरूरी है |
    • कैमरा clearity के लिए जितना अच्छा होता है वैसा ही जलद दृश्यों को capture करने की क्षमता अच्छी होनी चाहिए |

ऊपर दिए सारे तत्व सिनेमेटोग्राफी के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं इसलिए Cinematography के लिए सभी एकसमान है |

यह भी पढे :

Developement of Cinematography(छायांकन ) | सिनेमेटोग्राफी का तकनीकी विकास :

पुराने जमाने जो फिल्मे बनती थी और अभी की फिल्मे दोनों मे बहुत सा अंतर हमे देखने मिलेगा इसका कारण क्या है तो बदलती हुई दुनिया ,technology ,creativity, आदि॥

डिजिटल कैमरे और उनका उपयोग :

डिजिटल कैमरा यह एक महत्वपूर्ण डिवाइस है जिसके कारण आज के Film Industry के क्षेत्र मे बहुत ही बदलाव हुए देखे जाते है | अभी के समय मे जो भी डिजिटल कैमरा आते है वो सारे फिल्म कमेरों के बराबर है | इनमे high मेगापिक्सेल कैमरा होने के कारण यह बहुत ही better quality के फ़ोटोज़ और videos कैप्चर करता है |

एक और महत्वपूर्ण benifit है जो की डिजिटल कैमरों मे देखा जाता है , वॉरिएबल फ़्रेम रेट (VFR) का feature। वॉरिएबल फ़्रेम रेट से सिनेमाटोग्राफर speed और Time को control कर सकता है, जिससे वीडियो में बहुत ही अच्छी क्वालिटी मिलती है |

डिजिटल कैमरों मे zoom ,battery ,lense ऐसे सारे घटक टॉप क्वालिटी के आते है जिससे आपको कम investment मे ज्यादा फायदा मिलता है |

नए तंत्रज्ञान का प्रभाव:

सिनेमॅटोग्राफी (Cinematography in Hindi) मे विज्ञान का बहुत ही बाद योगदान है | बाकी क्षेत्र मे भी है पर फिल्म इंडस्ट्री के लिए तो विज्ञान ने ऐसे ऐसे खोज लगाए है जिससे फिल्म उद्योग बहुत ही आगे गया है |

अगर बात ही करना हो तो High Resolution के कैमरा जिनमे 4k -8k सपोर्ट है ,VFX effects जैसी टेक्नॉलजी जिसका इस्तमाल करके एक ही जगह पर आप कुछ भी दृश दिखा सकते है | Automation या फिर रोबाटिक्स कैमरा जबसे यह या चुके है तबसे ज्यादा मेहनत ही जरूरत नहीं होती , ऑब्जेक्ट के हिसाब से यह खुद फ्रेम कंट्रोल करते है |

इस तरह से बदलते तंत्रज्ञान का Cinematography (Cinematography in Hindi)मे बहुत ही बड़ा योगदान है |

सिनेमेटोग्राफी का भविष्य :

सिनेमाटोग्राफी मे भविष्य में नई तकनीकों ज्यादा तर उपयोग होता हमे नजर आएगा । Digital Camera , वीआर (Virtual Reality) और एआर (Augmented Reality) जैसी नई टेक्नीक के वजेसे फिल्म इंडस्ट्री और भी आगे जाने वाली है |

वीआर(VR) और एआर(AR) सिनेमेटोग्राफी( Cinematography in Hindi ) मे ज्यादा इस्तमाल होने के चानसेस है । इस टेक्नॉलजी मे दर्शकों को वह उस कहानी के ही पात्र है ऐसा दर्शाया जाएगा, जिससे सबकुछ रीऐलिटी का फीलिंग आएगा |

Camera resolution की बात करे तो दिन पे दिन कैमरा क्वालिटी बढ़ती ही जा रही है , आज कल नॉर्मल मोबाईल मे भी 4k सपोर्ट मिलता है | अब तक 4k-8k तक सपोर्ट होता है पर भविष्य मे तो उससे भी आगे टेक्नॉलजी जाने वाले है |

Career in Cinematography | करियर इन सिनेमैटोग्राफी

सिनेमेटोग्राफी एक बहुत ही अच्छा करियर ऑप्शन है, अगर आपमें विजुअलाइजेशन और लाइटिंग के साथ ही चीजे है तो यह फील्ड आपके लिए है । भारत जैसे देश है जहां पर हर साल बहुत ही ज्यादा फिल्में बनती और रीलीज होती है। इसलिए यहां पर सिनेमैटोग्राफर के लिए करियर की संभावना ज्यादा है|

अगर आपने Cinematography (Cinematography in Hindi) मैं कैरियर करने का सोचा ही है, फिल्म इंडस्ट्री में किसी भी प्रोडक्शन है उसके पास उनके लिए जाने से पहले आपके पास पोर्टफोलियो होना जरूरी है| पोर्टफोलियो शॉर्टकट में समझता हूं , पोर्टफोलियो यानी एक प्रकार का रिज्यूम होता है जिसमें आपके सब जानकारी होती है , जैसे आपकी जानकारी, की फैमिली, आपकी पढ़ाई, अपनी इससे पहले क्या हुआ काम, फोटोग्राफ्स आदि.. तो सबसे पहले आपके पोर्टफोलियो बनाना जरूरी है|

उसके बाद जहां भी आपको काम मिले शुरुआती दिनों में वहां पर काम करना शुरू करें, क्योंकि आप कितनी भी पढ़ाई करो किसी भी नए व्यक्ति के लिए काम मिलना बहुत ही मुश्किल है | इसलिए जो भी हो जैसा भी हो काम करते जाइए और अपना फोटो अच्छा से अच्छा बनाते जाइए इसके बाद अपने आप Cinematography का काम आना शुरू हो जाएगा| और इस तरह Cinematography आपको आप एक Career के रूप में भी ले सकते हैं|

Cinematography Career Post

  • डायरेक्टर ऑफ फोटोग्राफी (DOP)
  • कैमरा ऑपरेटर
  • सिनेमेटोग्राफर
  • कैमरा प्रोडक्शन असिस्टेंट
  • मोशन कंट्रोल ऑपरेटर
  • वीडियो एडिटर
  • वीडियोग्राफर
  • कैमरामेन
  • फ्रीलांसर
  • कैमरा असिस्टेंट

छायांकन का मतलब क्या होता है?

छायांकन का समानार्थी शब्द है फोटोग्राफी, और अगर ” फोटोग्राफी “ इस शब्द को गौर से देखा जाए तो यह करीब दो शब्दों का बना हुआ है, उसमें से एक है Photo और दूसरा है graphos और इसमें सबसे महत्वपूर्ण बात यह है की यह दोनों शब्द ग्रीक शब्द है | Photo यह शब्द प्रकाश को प्रदर्शित करता है यही graphos शब्द का अर्थ है की छोटासा बिन्दु या फिर चित्र इसलिए प्रकाशित द्वारा चित्रण करने वाले इस प्रक्रिया को ही छायांकन कहते हैं|

Q1:सिनेमेटोग्राफी(छायांकन ) के लिए कौन-कौन से उपकरणों का उपयोग होता है?

Ans: सिनेमेटोग्राफी( Cinematography in Hindi ) के लिए कैमरा,लेंस,ट्रायपॉड,डॉली और ट्रैक,लाइटिंग उपकरण,साउंड उपकरण और भी कुछ डिवाइसेस की जरूरत होती है |

Q2:सिनेमेटोग्राफी(छायांकन ) में कैमरा के कौन-कौन से घटक होते हैं?

Ans: लेंस (Lens),एपर्चर (Aperture),शटर स्पीड (Shutter Speed),फोकस (Focus),आयसो (ISO),चालान (Camera Movement) यह सारे घटक होते है जो की cinematography के लिए उपयुक्त है |

Q3:चित्रपट निर्माण में सिनेमेटोग्राफर की भूमिका क्या होती है | छायांकन क्या है?

Ans: एक cinematographer की भूमिका इस फील्ड मे ज्यादा होती है ,Visually कहानी की रचना करना,Camera के माध्यम से दृश्यों को कैप्चर करना,Light को नियंत्रित करना,

Q4:सिनेमेटोग्राफी के लिए बेस्ट कैमरा कौन सा है?

Ans: देखिए यहा पर कोई भी एक कैमरा सिलेक्ट करना मुश्किल रहेगा पर हम आपसे कुछ मॉडेल्स अँड ब्रांडस सजेस्ट करेंगे जैसे की ARRI Alexa Mini,RED Epic-W,Sony Venice,Blackmagic URSA Mini Pro, और मॉडेल्स Panasonic Varicam, Canon C500, RED Monstro, Sony FS7, और Nikon Z6 आदि।

Q6.सिनेमेटोग्राफी(छायांकन ) में लाइटिंग का क्या महत्व होता है?

Ans:
सिनेमेटोग्राफी( Cinematography in Hindi ) में Lighting का महत्व बहुत है क्योंकि यह उस सीन को प्रभावी बनाता है और कहानी को दर्शकों तक पहुंचाने मे मदत करता है । यह दृश्यों की रंग, भावनात्मक अभिव्यक्ति, गहराई, तारीख और उसकी details को दर्शाता करता है।

Q7.सिनेमेटोग्राफी में रंग का क्या महत्व है?

Ans: Cinematography(छायांकन ) में रंग का महत्व आवश्यक है क्योंकि यह दृश्यों को प्रभावी बनाता है और कहानी को दर्शकों के सामने प्रस्तुत करने में मदद करता है।

निष्कर्ष :

तो दोस्तों इस आर्टिकल मे हमने देखा की What is Cinematography in Hindi – छायांकन क्या है ? ,हमें Cinematography के महत्वपूर्ण घटक और उसकी process इनकी detail मे जानकारी मिली है। सिनेमेटोग्राफी एक कला है जो दृश्य, प्रकाश, रंग, कैमरा, छवि कंपोजीशन, गति, इन सभी के आधार पर कुछ कंटेन्ट बनाकर दर्शकों के सामने लाती है |

Cinematography का ज्यादा तर उपयोग film industry मे होता है , इसलिए इसे as a career के रूप मे लेना एक सही निर्णय हो सकता है | तो आज के जमाने में हर कोई अपना पैशन फॉलो करता है, उसी में और किसी को कैमरा, शूटिंग, सिनेमैटोग्राफी, छायांकन, आदि में रुचि हो तो आंख बंद करके आप सिनेमैटोग्राफी यानी छायांकन को अपने करियर के रूप में ले सकते हो|

Cinematography क्या है? (छायांकन क्या है), के बारे में हमने इस आर्टिकल में बहुत सी चीज क्लियर कर दी है| फिर भी अगर आपको इस टॉपिक से रिलेटेड कुछ सवाल रहेंगे, या फिर आपको कुछ एडवांस जो की जरूरत होगी तो कृपया कमेंट के माध्यम से हमें बताइए, हम उन सारे सवालों का जवाब देने का प्रयास करेंगे, और ऐसे ही फिल्म इंडस्ट्री के रिलेटेड अपडेट्स के लिए हमारी इस वेबसाइट को जरूर चेक करें|आशा है कि आपको Cinematography meaning in Hindi के साथ ही अन्य जानकारी समझ आयी होगी ।

धन्यवाद ||||

अन्य पढे :

Leave a Comment